Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो गया ।

बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो गया ।

सत् भांमा रुक्मण के जैसी लूगाई,
राधे के साथ कैसे जोड़ी बनाई,
बोल कान्हा बोल....
बोल कान्हा बोल तू नादान कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो गया,

ब्याह जिसे लाया वो गूहाई तेरी रानी,
बिना ब्याहे राधा कहाए महारानी,
बोल कान्हा बोल....
बोल कान्हा बोल ये सम्मान कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो गया,

राणी-पटराणी सारी हाजिरी बजावै,
राधे महारानी तुझपे रोब्ब जमावै,
बोल कान्हा राधे का....
बोल कान्हा राधे का गुलाम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो गया,

तस्वीर बिवियों की कोने में पड़ी है,
जितने मंदिर राधे बगल में खड़ी है,
बोल कान्हा बोल....
बोल कान्हा बोल ये विधान कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो गया,

राणी-महारानी का लेंता नहीं नाम है,
डंके की चोट कहें राधा मेरी जान है,
फिर भी भक्त तेरा....
फिर भी भक्त तेरा यें जहां कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो गया,

जिसने भी प्यार किया वो ही बदनाम है,
प्रेमिका के साथ तेरी चार गुनी शान है,
झूठा सारा वेद....
झूठा सारा वेद और पुराण कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो गया,

हक़ ज्यादा राधे का क्यूँ है बता दे,
राधे से कहना पड़े श्याम से मिला दे,
इतना बनवारी.....
हां.. इतना बनवारी मेहरबान कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो गया,

बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो गया


✱ F L O T B E ✱
B K B G K K H G,
B S K T R S K H G,

S B R K J L,
R K S K J B,
B K B….
B K B T N K H G,
B S K T R S K H G,

B J L W G T R,
B B R K M,
B K B….
B K B Y S K H G,
B S K T R S K H G,

R-P S H B,
R M T R J,
B K R K….
B K R K G K H G,
B S K T R S K H G,

T B K K M P H,
J M R B M K H,
B K B….
B K B Y V K H G,
B S K T R S K H G,

R-M K L N N H,
D K C K R M J H,
P B B T….
P B B T Y J K H G,
B S K T R S K H G,

J B P K W H B H,
P K S T C G S H,
J S V….
J S V A P K H G,
B S K T R S K H G,

H J R K K H B D,
R S K P S S M D,
E B…..
H.. E B M K H G,
B S K T R S K H G,

B K B G K K H G,



bol kanha bol galat kaam kaise ho gaya bina shadi ke tu radhe shyam kaise ho gaya



Bhajan Lyrics View All

मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है