Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो

ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
श्याम बंशी बजाते मिलेंगे
श्याम मुरली बजाते मिलेंगे
ज़रा छलके ज़रा छलके बृंदावँ देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
श्याम बंशी बजाते मिलेंगे
श्याम मुरली बजाते मिलेंगे
झूला झूल रही होंगी राधा रानी
श्याम झूला झूलते मिलेंगे
ज़रा छलके बृंदावँ देखो
श्याम बंशी बजाते मिलेंगे
श्याम मुरली बजाते मिलेंगे

श्री राधे श्री राधे श्री राधे

ज़रा छलके वृदावन देखो
श्याम बंशी बजाते मिलेंगे
श्याम मुरली बजाते मिलेंगे

साथ में उनके ग्वाल बाल होंगे
श्याम गौए चरते हुए मिलेंगे
ज़रा छलके वृदावन देखो
श्याम बंशी बजाते मिलेंगे
श्याम मुरली बजाते मिलेंगे

ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
श्याम बंशी बजाते मिलेंगे
श्याम मुरली बजाते मिलेंगे

अभी रूठ गयी होंगी राधा रानी
श्याम उनको मनाते मिलेंगे
ज़रा छलके वृदावन देखो
श्याम बंशी बजाते मिलेंगे
ज़रा छलके वृदावन देखो
श्याम मुरली बजाते मिलेंगे



zara chalke vrindavan dekho jara hatke jara hatke jamane se dekho



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया