Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है

यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं, जो तेरी मर्ज़ी है

लफ़्ज़ों का टोटा है ,
जीकर प्यारे का, अश्कों से होता है

छम छम छम बारिश है,
माहि घर आ जा , हर बूँद सिफारिश है

वो इतना प्यारा है,
चाँद कहे उससे , तू चाँद हमारा है 

जग रोक न पायेगा,
मीरा नाचेगी, जब श्याम नचाएगा

माहि बड़ा गबरू ए
उसकी खुशबु से, खुशबु मैं खुशबु है

अब और न मन भटके,
मैं अखियन रख आई , प्रीतम की चोखट पे 

जब वो छत पे आये,
हर दिल की खिड़की , धीरे से खुल जाये

सिर धड की बाज़ी है,
कोई माने ना माने , मेरा यार तो राज़ी 

मन का दर्पण मांझा,
एक दिखे दोनों, जो हीर वही राँझा

बाहर लाचारी है
नाच प्यारे का भीतर तो जारी है

दिल टूट ही जाता है,
जब परसों की कह वो, बरसों नहीं आता है

दिल यूं तड़पाते हैं,
वो जब आते, जाने को ही आते हैं

तुझमें ही घुल जाऊंगा
दूर भले कितना, आके मिल जाऊँगा

बुद्धि और भी उल्झेगी
ये प्रेम पहेली है, तुमसे नही सुलझेगी

लड्डू लाडो की जोड़ी है,
जितनी दीड करो उतनी ही थोड़ी है

बरसो तो पूरा बरसो
पी की थाली में मन के चोरी बरसो



Yeh Meri Arzi Hai,
Main Wo Ban Jaaoon Jo Teri Marzi Hai

yeh meree arjee hai,
main vaisee ban jaoon, jo teree marzee hai

lafzon ka tota hai ,
jeekar pyaare ka, ashkon se hota hai

chham chham chham baarish hai,
maahi ghar aa ja , har boond siphaarish hai

vo itana pyaara hai,
chaand kahe usase , too chaand hamaara hai 

jag rok na paayega,
meera naachegee, jab shyaam nachaega

maahi bada gabaroo e
usakee khushabu se, khushabu main khushabu hai

ab aur na man bhatake,
main akhiyan rakh aaee , preetam kee chokhat pe 

jab vo chhat pe aaye,
har dil kee khidakee , dheere se khul jaaye

sir dhad kee baazee hai,
koee maane na maane , mera yaar to raazee 

man ka darpan maanjha,
ek dikhe donon, jo heer vahee raanjha

baahar laachaaree hai
naach pyaare ka bheetar to jaaree hai

dil toot hee jaata hai,
jab parason kee kah vo, barason nahin aata hai

dil yoon tadapaate hain,
vo jab aate, jaane ko hee aate hain

tujhamen hee ghul jaoonga
door bhale kitana, aake mil jaoonga

buddhi aur bhee uljhegee
ye prem pahelee hai, tumase nahee sulajhegee

laddoo laado kee jodee hai,
jitanee deed karo utanee hee thodee hai

baraso to poora baraso
pee kee thaalee mein man ke choree baraso



Bhajan Lyrics View All

श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥