Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार

दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार
यहाँ से गर जो हरा, कहाँ जाऊँगा सरकार

सुख में प्रभु जी तेरी याद न आयी,
सुख में प्रभु जी तुमसे प्रीत लगाई
सारा दोष है मेरा मैं करता हूँ स्वीकार

मेरा तो क्या है , मैं तो पव्हले से हारा
तुमसे ही पूछेगा ये संसार सारा
डूब गयी क्यों नया तेरे रहते खेवनहार

सब कुछ लुटा है, बस लाज बची है,
तुम पे ही कहना मेरी आस बंधी है
सुना है तुम सुनते हो, हम जैसों की पुकार

जिसको बताया मैं अपना फ़साना
सबने बताया मुझे तेरा ठिकाना
मैंने तुमको माना है मात पिता संसार



Duniya Se Main Haara To Aaya Tere Dvaar,
Yahaan Se Gar Jo Hara Kahaan Jaoonga Sarakaar

duniya se main haara to aaya tere dvaar
yahaan se gar jo hara , kahaan jaoonga sarakaar

sukh mein prabhu jee teree yaad na aayee,
sukh mein prabhu jee tumase preet lagaee
saara dosh hai mera main karata hoon sveekaar

mera to kya hai , main to pavhale se haara
tumase hee poochhega ye sansaar saara
doob gayee kyon naya tere rahate khevanahaar

sab kuchh luta hai, bas laaj bachee hai,
tum pe hee kahana meree aas bandhee hai
suna hai tum sunate ho, ham jaison kee pukaar

jisako bataaya main apana fasaana
sabane bataaya mujhe tera thikaana
mainne tumako maana hai maat pita sansaar



Bhajan Lyrics View All

सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,