Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री राधा

हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री राधा
मेरी लाडो का नाम श्री राधा
पटरानी का नाम श्री राधा //०//

जमुना तट पर राधा राधा,
कुंज गलिन मे राधा राधा,
राधा बिना शाम आधा,
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
पटरानी का नाम श्री राधा //१//

बरसाने मे राधा राधा
बंसी पट पे राधा राधा
राधा पुकारे शाम आजा
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
पटरानी का नाम श्री राधा //२//

पनिया भारण गयी गोपिया, पीछे उनके गयो रे नंदलाल रे
कर रहे है छेड़खानी

राधा राधा राधा मेरी राधा महारानी देखो
शाम है दीवाना उसका गाए राधा राधा देखो

शरण पड़ा हू आके तेरे
तुमको भजता शाम सवरे
सुनके यही कहता शाम राधा
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
पटरानी का नाम श्री राधा //३//


भटका हू मुझे राह दिखादे
चरनो मे मुझे अपनी जगा दे
नाम स्मरण बिना जीवन आधा
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
पटरानी का नाम श्री राधा //४//



meri laado ka naam shri radha



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
बृज के नंदलाला राधा के सांवरिया,
सभी दुःख दूर हुए, जब तेरा नाम लिया।
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।