Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।

मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।

तेरी भक्ति के गीत मैं गाया करूँ,
ह्रदय को मैं शुद्ध बनाया करूँ ।
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल,
तेरी याद में सुबहो और श्याम निकले,
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले॥

मैं तो राधा राधा ही ध्याया करूँ,
सच्ची श्रद्धा की अग्नि जलाया करूँ।
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
तेरी मस्ती में दिन और रात निकले,
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले।

मन मंदिर में ज्योति जगा तुम देना,
मैल मन की मेरे तुम हटा ही देना।
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
तेरे ध्यान में उम्र तमाम निकले,
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले॥

दिल में राधा ही नाम बसाऊ सदा,
सेवा कर्मो की भेंट चडाऊ सदा।
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
नाम जपते ही अंतिम स्वास निकले,
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले॥

जय राधे राधे, जय राधे राधे,
श्री राधे राधे, श्री राधे राधे।
जय राधे राधे, जय राधे राधे,
श्री राधे राधे, श्री राधे राधे।

जय राधे राधे राधे, जय राधे राधे राधे,
श्री राधे राधे राधे, श्री राधे राधे राधे।
जय राधे राधे राधे, जय राधे राधे राधे,



meri rasna se radha radha naam nikle



Bhajan Lyrics View All

दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है