Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई

लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई

लहंगा भी लुंगी और चुनरी भी लुंगी..
लहंगा भी लुंगी और चुनरी भी लुंगी..
चोली की.. चोली की.. हाँ जी चोली की दे दे सिलाई..
कीरत मैया दे दे बधाई
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई

कंगना भी लुंगी और झुमका भी लुंगी
कंगना भी लुंगी और झुमका भी लुंगी
नथनी की.. नथनी की.. हाँ जी. नथनी की दे दे गढाई
कीरत मैया दे दे बधाई
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई

लड्डू भी लुंगी और पेडा भी लुंगी
लड्डू भी लुंगी और पेडा भी लुंगी
दे दे.. दे दे .. हा जी दे दे दूध मलाई
कीरत मैया दे दे बधाई
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई

ना लुंगी और ना लुंगी
ना लुंगी और ना लुंगी
क्यों ना लुंगी रे भैया..
हो गयी.. हो गयी.. हाँ जी हो गयी बड़ी महंगाई
कीरत मैया दे दे बधाई
लाली की सुनके मैं आयी



birth wishes of shri radha rani



Bhajan Lyrics View All

ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।