Share this page on following platforms.

Home Gurus Paramhansa Yogananda

MEMORIES of Paramhansa Yogananda

'Memories of Paramahansa Yogananda' with MaryPeck Stockton

Paramhansa Yogananda's nephew, Hari Krishna Gosh, reminisces on his life with the great Master.

Experiences with Paramahansa Yogananda

Swami Kriyananda - "My Life with Paramhansa Yogananda"

Sri Daya Mata Reminisces about Paramahansa Yogananda

Yogananda, Durga Ma, pt1

Yogananda, Durga Ma, pt2

Yogananda, Durga Ma, pt3

Yogananda, Durga Ma, pt 4

Contents of this list:

'Memories of Paramahansa Yogananda' with MaryPeck Stockton
Paramhansa Yogananda's nephew, Hari Krishna Gosh, reminisces on his life with the great Master.
Experiences with Paramahansa Yogananda
Swami Kriyananda - "My Life with Paramhansa Yogananda"
Sri Daya Mata Reminisces about Paramahansa Yogananda
Yogananda, Durga Ma, pt1
Yogananda, Durga Ma, pt2
Yogananda, Durga Ma, pt3
Yogananda, Durga Ma, pt 4

Bhajan Lyrics View All

जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥