Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

दीवाना हूँ तेरा कहना, दीवाना हूँ तेरा कहना
मुझे जयादा ना तड़पना,

दीवाना हूँ तेरा कहना, दीवाना हूँ तेरा कहना
मुझे जयादा ना तड़पना,

कभी गोकुल में ढुंढू तुझे, वृन्दावन में ढुंढू तुझे ।
नंदगांव में ढुँढू तुझे, गोवर्धन में ढुँढू तुझे ।
ढूंढ आया मैं बरसाना ॥

दीवाना हूँ तेरा कहना...

हर तरह से तुम्हारे हैं हम, आप मानो ना मनो भले ।
तेरे चरणो में निकलेगा दम, आप मानो ना मने भले ।
तुझे पागल क्यों बेगाना ॥
दीवाना हूँ तेरा कहना...

अब तो करदो दया की नज़र, ठोकरे खा रहा दर बेदर ।
एक तुम्हारे इस दर के सिवा, और दुनिया में ना मेरा घर ।
मुझे दर से ना ठुकराना ॥



deewana hun tera kahna diwana hun tera kahna mujhe jayada na tadpana



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
बृज के नंदलाला राधा के सांवरिया,
सभी दुःख दूर हुए, जब तेरा नाम लिया।
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है