Share this page on following platforms.

Home Gurus Krishna Chandra Shastri Ji

A

Vrindavan, U.P ( 05 July 2014 ) | Shrimad Bhagwat Katha | Krishna Chandra Shastri Ji

Sanskar LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Thakur Ji - 15th Oct 2015 || Day 3

Vrindavan, U.P ( 07 July 2014 ) | Shrimad Bhagwat Katha | Krishna Chandra Shastri Ji

Vrindavan, U.P ( 06 July 2014 ) | Shrimad Bhagwat Katha | Krishna Chandra Shastri Ji

Hoshiarpur (Punjab) April 2015 | Shrimad Bhagwat Katha | Shri Krishna Chandra Shastri Ji

Shrimad Bhagwat Katha in Mathura By Shri Thakurji Part 1 of 9

radha albeli sarkar//krishna chandra thakur ji//krishna bhajan

LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Thakur Ji - 11 Feb 2016 || Day 4

adharam madhuram vadanam madhuram//krishna chandra thakur ji //madhurashtkam/

Chata Teri तीन लोक न्यारी | Shri Krishna Chandra Shastri (Thakur Ji) || Full Songs

govind mero hai gopal mero hai //kirtan //thakur ji maharaj vrindavan

govind mero hai gopal mero hai //kirtan //thakur ji maharaj vrindavan

Kolkata, West Bengal ( 1 December 2014 ) | Shri Ram Katha | Krishna Chandra Shastri Ji

Contents of this list:

Vrindavan, U.P ( 05 July 2014 ) | Shrimad Bhagwat Katha | Krishna Chandra Shastri Ji
Sanskar LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Thakur Ji - 15th Oct 2015 || Day 3
Vrindavan, U.P ( 07 July 2014 ) | Shrimad Bhagwat Katha | Krishna Chandra Shastri Ji
Vrindavan, U.P ( 06 July 2014 ) | Shrimad Bhagwat Katha | Krishna Chandra Shastri Ji
Hoshiarpur (Punjab) April 2015 | Shrimad Bhagwat Katha | Shri Krishna Chandra Shastri Ji
Shrimad Bhagwat Katha in Mathura By Shri Thakurji Part 1 of 9
radha albeli sarkar//krishna chandra thakur ji//krishna bhajan
LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Thakur Ji - 11 Feb 2016 || Day 4
adharam madhuram vadanam madhuram//krishna chandra thakur ji //madhurashtkam/
Chata Teri तीन लोक न्यारी | Shri Krishna Chandra Shastri (Thakur Ji) || Full Songs
govind mero hai gopal mero hai //kirtan //thakur ji maharaj vrindavan
govind mero hai gopal mero hai //kirtan //thakur ji maharaj vrindavan
Kolkata, West Bengal ( 1 December 2014 ) | Shri Ram Katha | Krishna Chandra Shastri Ji

Bhajan Lyrics View All

बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा