Share this page on following platforms.

Home Gurus Sudhanshu ji

way to happiness-Sudhanshuji

Way to Happiness - Hindi - Sudhanshu Ji Maharaj

Peace and Contentment - Hindi - Sudhanshu Ji Maharaj

He Nath ab to, aisi daya ho - Bhajan by Sudhanshuji Maharaj

Inner Strength - Hindi - Sudhanshu Ji Maharaj

RAREST BHAGWATGEETA EXPLANATION BY SUDHANSHU JI MAHARAJ PART-1.flv

RAREST BHAGWATGEETA EXPLANATION BY SUDHANSHU JI MAHARAJ PART-4.flv

Pujya Sudhanshuji Maharaj Satsang from Aurangabad on Jan 21, 2012

The Path of happiness by Pujya Sudhanshuji Maharaj from HongKong

"Meet the Divine" February 2012

Joyful Divine Holi 2012 Satsang Part 1

Joyful Divine Holi 2012 Satsang Part 2

1 Jan New Year Satsang at Ananddham Ashram

Pujya Sudhanshuji Maharaj-Road to Happiness, Hong Kong, May 15 2012

Sudhanshuji Maharaj 112 - Indore

Sudhanshuji Maharaj 115 - Indore

Sudhanshuji Maharaj 116 - Indore

Sudhanshuji Maharaj 118 - Indore

Sudhanshuji Maharaj 119 - Sundernagar

Sudhanshuji Maharaj 120 - Sundernagar

Sudhanshuji Maharaj 121 - Sundernagar

Sudhanshuji Maharaj 122 - Sundernagar

Sudhanshuji Maharaj 123 - Sundernagar

Sudhanshuji Maharaj 124 - Sundernagar

Sudhanshuji Maharaj 125 - Sundernagar

Sudhanshuji Maharaj 126 - Sundernagar

Sudhanshuji Maharaj 127

Sudhanshuji Maharaj 128

Sudhanshuji Maharaj 129

Sudhanshuji Maharaj 130

Sudhanshuji Maharaj 133

The Path of happiness by Pujya Sudhanshuji Maharaj from HongKong

Contents of this list:

Way to Happiness - Hindi - Sudhanshu Ji Maharaj
Peace and Contentment - Hindi - Sudhanshu Ji Maharaj
He Nath ab to, aisi daya ho - Bhajan by Sudhanshuji Maharaj
Inner Strength - Hindi - Sudhanshu Ji Maharaj
RAREST BHAGWATGEETA EXPLANATION BY SUDHANSHU JI MAHARAJ PART-1.flv
RAREST BHAGWATGEETA EXPLANATION BY SUDHANSHU JI MAHARAJ PART-4.flv
Pujya Sudhanshuji Maharaj Satsang from Aurangabad on Jan 21, 2012
The Path of happiness by Pujya Sudhanshuji Maharaj from HongKong
"Meet the Divine" February 2012
Divine Satsang on March 3 2012 from Karnal, Haryana
Joyful Divine Holi 2012 Satsang Part 1
Joyful Divine Holi 2012 Satsang Part 2
1 Jan New Year Satsang at Ananddham Ashram
Pujya Sudhanshuji Maharaj-Road to Happiness, Hong Kong, May 15 2012
Basant Panchami 2012 Divine Satsang
Sudhanshuji Maharaj 112 - Indore
Sudhanshuji Maharaj 115 - Indore
Sudhanshuji Maharaj 116 - Indore
Sudhanshuji Maharaj 118 - Indore
Sudhanshuji Maharaj 119 - Sundernagar
Sudhanshuji Maharaj 120 - Sundernagar
Sudhanshuji Maharaj 121 - Sundernagar
Sudhanshuji Maharaj 122 - Sundernagar
Sudhanshuji Maharaj 123 - Sundernagar
Sudhanshuji Maharaj 124 - Sundernagar
Sudhanshuji Maharaj 125 - Sundernagar
Sudhanshuji Maharaj 126 - Sundernagar
Sudhanshuji Maharaj 127
Sudhanshuji Maharaj 128
Sudhanshuji Maharaj 129
Sudhanshuji Maharaj 130
Sudhanshuji Maharaj 133
The Path of happiness by Pujya Sudhanshuji Maharaj from HongKong

Bhajan Lyrics View All

तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।