Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।

कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।

राधा ने श्याम कहा, मीरा ने नटवर ।
गवालों ने पुकारा तुम्हे कह कर गावाला ॥
कोई कहे गोविंदा...

गोविन्द बोलो हरो गोपला बोलो ।
राधा रमण हरी गोविन्द बोलो ॥

यशोदी जी कहती थी तुमको कन्हैया ।
दाऊ जी कहते थे तुमको नंदलाला ॥
कोई कहे गोविंदा...

घड़ियाल कह हर बुलाता दर्योधन ।
जल जलके तहत था तुमको है कला ॥
कोई कहे गोविंदा...

अर्जुन के बनवारी मीरा के मोहन ।
भक्तो ने पुकारा तुम्हे कह कर मुरली वाला ॥
कोई कहे गोविंदा...


ਕੋਈ ਕਹੇ ਗੋਵਿੰਦਾ, ਕੋਈ ਗੋਪਾਲਾ,
ਮੈਂ ਤੋਂ ਕਹੂੰ ਸਾਂਵਰੀਯਾ, ਬਾਂਸੁਰੀਆ ਵਾਲਾ ।
ਕੋਈ ਕਹੇ ਗੋਵਿੰਦਾ...

ਰਾਧਾ ਨੇ ਸ਼ਾਮ ਕਹਾ, ਮੀਰਾ ਨੇ ਨਟਵਰ ।
ਗਵਾਲੋਂ ਨੇ ਪੁਕਾਰਾ ਤੁਮ੍ਹੇ, ਕਹਿ ਕਰਕੇ ਗਵਾਲਾ ॥
ਕੋਈ ਕਹੇ ਗੋਵਿੰਦਾ...

ਗੋਵਿੰਦ ਬੋਲੋ, ਹਰੀ ਗੋਪਾਲ ਬੋਲੋ ।
ਰਾਧਾ ਰਮਨ ਹਰੀ, ਗੋਵਿੰਦ ਬੋਲੋ ॥

ਯਸ਼ੋਦਾ ਜੀ ਕਹਤੀ ਥੀ, ਤੁਮਕੋ ਕਨ੍ਹਈਆ ।
ਦਾਊਂ ਜੀ ਕਹਤੇ ਥੇ, ਤੁਮ੍ਹੇ ਨੰਦ ਲਾਲਾ ॥
ਕੋਈ ਕਹੇ ਗੋਵਿੰਦਾ...

ਘੜਿਆਲ ਕਹਿ ਕਰ, ਬੁਲਾਤਾ ਦੁਰਯੋਧਨ ।
ਜਲ ਜਲਕੇ ਕਹਤਾ ਥਾ, ਤੁਮਕੋ ਹੈ ਕਾਲਾ ॥
ਕੋਈ ਕਹੇ ਗੋਵਿੰਦਾ...

ਗੋਵਿੰਦ ਬੋਲੋ ਹਰੀ, ਗੋਪਾਲ ਬੋਲੋ ।
ਰਾਧਾ ਰਮਨ ਹਰੀ, ਗੋਵਿੰਦ ਬੋਲੋ ॥

ਅਰਜੁਨ ਕੇ ਬਨਵਾਰੀ, ਮੀਰਾਂ ਕੇ ਮੋਹਨ ।
ਭਕਤੋਂ ਨੇ ਪੁਕਾਰਾ ਤੁਮ੍ਹੇ, ਕਹਿ ਕੇ ਮੁਰਲੀ ਵਾਲਾ ॥



koi kahe govinda koi gopala main to kaun saanwariya murli wala



Bhajan Lyrics View All

मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा