Share this page on following platforms.

Home More Bhagwad Gita

Bhagavad Gita Journey Of Self Discovery Course (Hindi) Shyam Charan Das

7 Days Gita Course in Hindi - Introduction By H.G.Radha Gopinath Prabhu

7 Days Gita Course in Hindi - Day 1 by H.G Shyamcharan Das

7 Days Gita Course in Hindi - Day 2 by H.G Shyamcharan Das

7 Days Gita Course in Hindi - Day 3 by H.G Shyamcharan Das

7 Days Gita Course in Hindi - Day 4 by H.G Shyamcharan Das

7 Days Gita Course in Hindi - Day 5 by H.G Shyamcharan Das

7 Days Gita Course in Hindi - Day 6 by H.G Shyamcharan Das

7 Days Gita Course in Hindi - Day 7 by H.G Shyamcharan Das

Contents of this list:

7 Days Gita Course in Hindi - Introduction By H.G.Radha Gopinath Prabhu
7 Days Gita Course in Hindi - Day 1 by H.G Shyamcharan Das
7 Days Gita Course in Hindi - Day 2 by H.G Shyamcharan Das
7 Days Gita Course in Hindi - Day 3 by H.G Shyamcharan Das
7 Days Gita Course in Hindi - Day 4 by H.G Shyamcharan Das
7 Days Gita Course in Hindi - Day 5 by H.G Shyamcharan Das
7 Days Gita Course in Hindi - Day 6 by H.G Shyamcharan Das
7 Days Gita Course in Hindi - Day 7 by H.G Shyamcharan Das

Bhajan Lyrics View All

वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो