Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

श्री राधे-राधे राधे-राधे राधे-राधे बोल॥ ॥,
मन राधे-राधे राधे-राधे राधे-राधे बोल॥

श्री राधे-राधे राधे-राधे राधे-राधे बोल॥ ॥,
मन राधे-राधे राधे-राधे राधे-राधे बोल॥
बरसाने की राधे प्यारी, गोकुल का है छोरा,
राधे नाम ने इन् दोनों को, प्रेम तान से जोड़ा ॥,
कान्हा जी की हर एक गलिआं, राधा नाम ही गाये,
गोकुल वाले कृष्ण का कोई, नाम न दूजा भाए ।
श्री राधे-राधे राधे-राधे राधे-राधे बोल। -॥॥
राधे नाम है होटों पे तोह, खेले रास मुरारी,
मीठी धुन में मुरली बजा के, झूमे कुञ्ज बिहारी॥
राधे नाम की डोरी से , कन्हैया बंध से जाए,
उनके नाम के सुमिरन से कान्हा जी खुश हो जाएँ।
श्री राधे-राधे राधे-राधे राधे-राधे बोल।॥॥
नाम जपें जो हर पल राधे, खुश होते गिरधारी,
इनके सुमिरन से काट जाती, पल मे विपदा सारी॥
चार दिनों का जीवन बन्दे, देखो बीत न जाए,
अब तो राधे सुमिरन करले, मौका बीत न जाए।
श्री राधे-राधे राधे-राधे राधे-राधे बोल। ॥॥
भज राधे-राधे राधे-राधे राधे-राधे बोल।




shri radhe radhe radhe radhe radhe radhe bol



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥