Share this page on following platforms.

Home Gurus Kripaluji

Brahm Jeev Maya Complete Series By Sri Kripaluji Maharaj

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 1 of 11

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 2 of 11

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 3 of 11

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 4 of 11

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 5 of 11

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 6 of 11

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 7 of 11

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 8 of 11

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 9 of 11

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 10 of 11

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 11 of 11

Contents of this list:

Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 1 of 11
Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 2 of 11
Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 3 of 11
Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 4 of 11
Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 5 of 11
Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 6 of 11
Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 7 of 11
Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 8 of 11
Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 9 of 11
Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 10 of 11
Brahm Jeev Maya By Kripaluji Maharaj Part 11 of 11

Bhajan Lyrics View All

हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,