Share this page on following platforms.

Home Singers Chitra Vichitraji

Sadhvi Poonam Didi,Chitra-Vichtra Ji

sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part 1

sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part 2

sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part-3

sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part 4

sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part 5

sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part 6

Pujya Chitra Vichitra Ji Sadhvi Poonam Ji Bhajan Sandhya Talkatora Stadium (Delhi)

Contents of this list:

sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part 1
sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part 2
sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part-3
sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part 4
sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part 5
sadhvi poonam didi,chitra-vichtra ji 29th Dec 2013 Shri Shyam Sankirtan Part 6
Pujya Chitra Vichitra Ji Sadhvi Poonam Ji Bhajan Sandhya Talkatora Stadium (Delhi)

Bhajan Lyrics View All

राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।