Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

दे दर्शन गुरु मेरे रुहां पुकार दियां
दे दर्शन गुरु मेरे.संगता पुकार दिया

दे दर्शन गुरु मेरे रुहां पुकार दियां
दे दर्शन गुरु मेरे.संगता पुकार दिया

संगता दर्शन करने नु आइया,
प्रेम तेरे ने मस्त बनाइया,
दिल विच लगिया आशा, तेरे दीदार दियां,
दे दर्शन गुरु मेरे रुहां पुकार दियां

धन धन सतगुरु तेरी करनी,
मैं पापी नु ला लो चरणी,
देखो ना तकफिरां मैं गुनहगार दियां,
दे दर्शन गुरु मेरे रुहां पुकार दियां

सोना नूरी मुखड़ा दस जा,
अंखिया दे विच आके बस जा,
हस के कर जा गल्ला,प्रेम पियार दियां,
दे दर्शन गुरु मेरे रुहां पुकार दियां

एस बगीचे दा तू है मालिक,
सब संग ताडा तू है वाली,
बूटियां कर दियो हरियां.इस गुलजार दियां,
दे दर्शन गुरु मेरे रुहां पुकार दियां

उदारुता इब छोड़ी नाही,
लागि प्रीत नु तोड़ी नाही,
पकिया पाबो गंडा,प्रेम पियार दियां,



de darshan guru mere ruha pukar diya radhaswami shabad with hindi lyrics



Bhajan Lyrics View All

तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।