Share this page on following platforms.

Home Gurus Sukhbodhananda

Manase Relax Please

Deleted video

Deleted video

Deleted video

Deleted video

Deleted video

Deleted video

Deleted video

Deleted video

Deleted video

Inner Awakening

Inner Awakening

Swami Sukhabodhananda's Discourse on Bravery Part 1

e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 4

e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 5

e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 4

e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 3

e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 2

e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 1

e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 3

e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 2

e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 1

Let TRUST rule over DOUBTS : Swami Sukhabodhananda @ AdAsia 2011

Contents of this list:

Deleted video
Deleted video
Deleted video
Deleted video
Deleted video
Deleted video
Deleted video
Deleted video
Deleted video
Inner Awakening
Inner Awakening
Swami Sukhabodhananda's Discourse on Bravery Part 1
e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 4
e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 5
e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 4
e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 3
e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 2
e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 1
e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 3
e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 2
e4m AdAsia 2011: Full Video: Global Ethos : Managing Unpredictability in Life & Business Part 1
Let TRUST rule over DOUBTS : Swami Sukhabodhananda @ AdAsia 2011

Bhajan Lyrics View All

मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा