Share this page on following platforms.

Home Gurus Rameshbhaiji Oza ji

KRISHNA BHAJANS - SHRI RAMESHBHAI OZA JI

KRISHNA BHAJAN - RAMESHBHAI OZA JI - HE GOPAL RADHE KRISHNA

KRISHNA BHAJAN - SHRI RAMESHBHAI OZA JI - HARE KRISHNA HARE RAM RADHE GOVINDA

KRISHNA BHAJAN - SHRI RAMESHBHAI OZA JI - KRISHNA KRISHNA MUKUNDA JANARDHANA

KRISHNA BHAJAN - SHRI RAMESHBHAI OZA JI - RADHA MADHAV NEELMANI

Contents of this list:

KRISHNA BHAJAN - RAMESHBHAI OZA JI - HE GOPAL RADHE KRISHNA
KRISHNA BHAJAN - SHRI RAMESHBHAI OZA JI - HARE KRISHNA HARE RAM RADHE GOVINDA
KRISHNA BHAJAN - SHRI RAMESHBHAI OZA JI - KRISHNA KRISHNA MUKUNDA JANARDHANA
KRISHNA BHAJAN - SHRI RAMESHBHAI OZA JI - RADHA MADHAV NEELMANI

Bhajan Lyrics View All

जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से