Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

राधे प्रगट भाई बरसाने मंगल बजत बधाई है,
मंगल बजत बधाई है  मंगल बजत बधाई है ॥

राधे प्रगट भाई बरसाने मंगल बजत बधाई है,
मंगल बजत बधाई है  मंगल बजत बधाई है ॥
बजत बधाई है श्री राधे बजत बधाई है ॥

गोपी गोप सखी सब आई॥
सुनके कीरत लाली जाई ॥
रानी कीरत गोद खिलावे,मृद मुस्काई है।
राधे प्रगट भाई बरसाने मंगल बजत बधाई है,

भानु भवन की शोभा नयारी ॥
भूषण वसन बटात भारी ॥
श्री वृषभान सुता अति सूंदर ,वेद कहाई है
राधे प्रगट भाई बरसाने मंगल बजत बधाई है,

गोपी ग्वाल सब नाचे गावे॥
ब्रज वासी सब मंगल गावे ॥
ऐसी लाली और नहीं देखी ,करत बढ़ाई है
राधे प्रगट भाई बरसाने मंगल बजत बधाई है,

चिर जीवो वृषभानु दुलारी ॥
श्री बरसानो वास सुखहारी॥
राधे जू की मधुर बधाई माधव गयी है
राधे प्रगट भाई बरसाने मंगल बजत बधाई है,



radha prakat bhayi barsane mangal bajat bdhai mangal bajat badai mangal bajat badai



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
बृज के नंदलाला राधा के सांवरिया,
सभी दुःख दूर हुए, जब तेरा नाम लिया।
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka