Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

जय जय भैरवनाथ, हर तुफां का तु किनारा हैं,
जय जय भैरवनाथ, जय जय भैरवनाथ,

जय जय भैरवनाथ, हर तुफां का तु किनारा हैं,
जय जय भैरवनाथ, जय जय भैरवनाथ,
हर तुफां का तु किनारा हैं, बस तेरा ही सहारा है,
सिर पर मेरे हाथ, भैरवनाथ जी तुम्हारा है,
जय जय भैरवनाथ, हर तुफां का तु किनारा हैं ॥

नाम से तेरे, बनते काम सब मेरे, भैरु बाबा तेरी दया हैं,
जो भी मैं चाहूं, एक पल में वो पाऊं, भैरु मुझपर तेरी कृपा है ।
बिगड़ा मेरा काम, हर बिगड़ा मेरा काम, भैरु तुने ही संवारा है,
बस तेरा ही सहारा है,
जय जय भैरवनाथ, हर तुफां का तु किनारा हैं ॥

घंटियां बजती, मुरत तेरी सजती, भैरु बाबा शाम सवेरे,
तेरी ज्योति से, कुंडल के मोती से, होते है दुर अंधेरे ।
तेरे ही दम से, तेरे ही दम से तो रोशन भैरव ये जग सारा हैं,
बस तेरा ही सहारा है,
जय जय भैरवनाथ, हर तुफां का तु किनारा हैं ॥

दिल के अंदर में, इस मन के मंदिर में, भैरु बाबा तु ही बसा हैं,
बिन पिये डोलू, जय जय तेरी बोलु, छाया भक्ति का नशा हैं ।
भक्तों ने तेरे, भक्तों ने रंग में तन-मन रंग लिया सारा हैं,
बस तेरा ही सहारा है,



jai jai bhairavanath, har toofan ka tu kinara hai



Bhajan Lyrics View All

प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका