Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

गजानन म्हारे घर आओ, विनायक म्हारे घर आओ,
संग ल्याओ शुभ और लाभ गजानन रिद्ध-सिद्ध न ल्याओ.. गजानन म्हा

गजानन म्हारे घर आओ, विनायक म्हारे घर आओ,
संग ल्याओ शुभ और लाभ गजानन रिद्ध-सिद्ध न ल्याओ.. गजानन म्हारे घर आओ...
थे आओ प्रभु आओ गजानन ब्रह्मा जी न ल्याओ, विनायक ब्रह्मा जी न ल्याओ,
वेदाँ क संग गायत्री माँ, वेदाँ क संग गायत्री माँ,  सरस्वती न ल्याओ ! गजानन म्हारे घर आओ..
थे आओ प्रभु आओ गजानन, विष्णु जी न ल्याओ, विनायक  विष्णु जी न ल्याओ,
कहियो चक्र सुदर्शन संग म लक्ष्मी जी न ल्याओ...गजानन म्हारे घर आओ
थे आओ प्रभु आओ गजानन शिव जी न ल्याओ, विनायक शिव जी न ल्याओ,
डमरू और त्रिशूल क सागे, गौरां न ल्याओ...गजानन म्हारे घर आओ...
थे आओ प्रभु आओ गजानन राम जी न संग ल्याओ, विनायक राम जी न संग ल्याओ,
कहियो सेवक हनुमत संग म, सीता जी न ल्याओ...गजानन म्हारे घर आओ...
थे आओ प्रभु आओ गजानन, श्याम जी संग ल्याओ, विनायक श्याम जी न संग ल्याओ,
कहियो मुरली क संग राधा-रुक्मण न ल्याओ...गजानन म्हारे घर आओ...
खीर, चूरमो, लाडू, माखन, गुड़, मोदक जीमो, गजानन गुड़, मोदक जीमो,
छाछ, दही, अमरस का प्याला भर-भर क पीवो...गजानन म्हारे घर आओ...
रिद्धि-सिद्धि, शुभ-लाभ संग प्रभु म्हारे घर आज्यो, गजानन म्हारे घर आज्यो...



gajanan mhare ghar aavo



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है