Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

चलावे तीर नज़र दे, जिगर तो पार हो जावे,
सलोनी सांवरी सूरत, मोहन नाल प्यार हो जावे ।

चलावे तीर नज़र दे, जिगर तो पार हो जावे,
सलोनी सांवरी सूरत, मोहन नाल प्यार हो जावे ।

जरा पर्दा हटा के आमने इक बार हस जांदा,
ना कडेया जावे दिल विचो, इश्क दा वार हो जावे ।
चलावे तीर नज़र दे...

नज़ारा कर लवे कोई जे मेरे बांके बिहारी दा,
नजारा कर लवे कोई, मेरे रसिक बिहारी दा,
तरसदीया ने मुद अँखियाँ कदे दीदार हो जावे ।
चलावे तीर नज़र दे...


ना चंगी लगदी इस दुनिया दी झूठी शान ते शौहरत,
मिटन नू श्याम दे दर ते दीवाना तैयार हो जावे ।
चलावे तीर नज़र दे...

मैं लब लब हो गयी पागल, तू आवे क्यों ना मनमोहन,
गोपाली ठाकुर मिल जावे, जे दिल दी पुकार हो जावे ।



chalave teer nazra de jigar to paar ho jave Punjabi bhajan by Chitr Vichitre ji



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा