Share this page on following platforms.

Home Gurus Shri Shri Ravishankar ji

Guruji's Talks in Hindi

When was the last ime you got angry? - Question and Answer session with Sri Sri

How to quit smoking (नशा कैसे छोडें) - Sri Sri

The Outer and the Inner (प्रवृत्ति और निवृत्ति) - Sri Sri

Value of the Human Life - Sri Sri Ravi Shankar

Ishwar Kya Hai - Talk by Sri Sri Ravi Shankar

What is the concept of Sankalpa - A Talk by Sri Sri Ravi Shankar

Ardhangini ki Aavashyakta - Sri Sri Ravi Shankar a talk in Hindi

Yoga and Meditation class by Sri Sri Ravi Shankar

Meditation for Peace by Sri Sri Ravi Shankar Hindi 1 21 2011

ART OF LIVING (03-10-07)

Gayatri Mantra is Connected to Intellect - Says Sri Sri Ravi Shankar

3 Types of Maya(Illusion) - Sri Sri Ravi Shankar

Meditation for Peace by Sri Sri Ravi Shankar Hindi 1 21 2011

Karma A talk by Sri Sri Ravi Shankar Hindi 1 31 2011

"Annadata Sukhi Bhava" - May the Provider be Happy

Gyan Ke Chinha - VCD 3 Part 1 - Sri Sri Ravi Shankar

Samay Nikaalo vcd 1 talk 3 part 1

Contents of this list:

When was the last ime you got angry? - Question and Answer session with Sri Sri
How to quit smoking (नशा कैसे छोडें) - Sri Sri
The Outer and the Inner (प्रवृत्ति और निवृत्ति) - Sri Sri
Value of the Human Life - Sri Sri Ravi Shankar
Ishwar Kya Hai - Talk by Sri Sri Ravi Shankar
What is the concept of Sankalpa - A Talk by Sri Sri Ravi Shankar
Ardhangini ki Aavashyakta - Sri Sri Ravi Shankar a talk in Hindi
Yoga and Meditation class by Sri Sri Ravi Shankar
Meditation for Peace by Sri Sri Ravi Shankar Hindi 1 21 2011
ART OF LIVING (03-10-07)
Gayatri Mantra is Connected to Intellect - Says Sri Sri Ravi Shankar
3 Types of Maya(Illusion) - Sri Sri Ravi Shankar
Meditation for Peace by Sri Sri Ravi Shankar Hindi 1 21 2011
Karma A talk by Sri Sri Ravi Shankar Hindi 1 31 2011
"Annadata Sukhi Bhava" - May the Provider be Happy
Gyan Ke Chinha - VCD 3 Part 1 - Sri Sri Ravi Shankar
Samay Nikaalo vcd 1 talk 3 part 1

Bhajan Lyrics View All

रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार