Share this page on following platforms.

Home Gurus Hita Ambrish ji

Sri hita ambrish ji

Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 43 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).

Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 43 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).

Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 42 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).

Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 41 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).

Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 40 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).

Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 44 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).

Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 45 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).

Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 45 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).

Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 46 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).

Contents of this list:

Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 43 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).
Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 43 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).
Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 42 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).
Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 41 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).
Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 40 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).
Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 44 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).
Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 45 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).
Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 45 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).
Shree Hita Harivansh Mahaprabhu ji Charitra Part 46 By Shree Hita Ambrish ji in Hisar (Haryana).

Bhajan Lyrics View All

बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही