Share this page on following platforms.

Home Gurus Radhakrishnaji

TS Radhakrishnaji..Dubai Bhajan

Enthamalai sevithaalum-TS Radhakrishnaji..Dubai Bhajan 4- 2013..........

Nrithamaadoo Krishna-TS Radhakrishnaji.....Dubai Bhajan 9 -2013 - Nrithamaadoo Krishna......

Vanamaali Raadha Ramana -TS Radhakrishnaji.....Dubai Bhajan 8 -2013

Oruneeramenkilum kaanathe - TS Radhakrishnaji.....Dubai Bhajan 7 -2013

Rshinaagakulathappaa Sharanam-TS Radhakrishnaji...Dubai Bhajan 6 - 2013

TS Radhakrishnaji...Dubai Bhajan 5- 2013..Anjaneeya hanumantha...........

Panchabhootha naathanaakum Swami Ayyappan-TS Radhakrishnan...Dubai Bhajan 3- 2013

Ente guruswamy Paranju - TS Radhakrishnaji....Dubai Bhajan 2-2013

Pampaganapathi - T S Radhakrishnaji.......Bhajan 1 -Dubai 2013

Contents of this list:

Enthamalai sevithaalum-TS Radhakrishnaji..Dubai Bhajan 4- 2013..........
Nrithamaadoo Krishna-TS Radhakrishnaji.....Dubai Bhajan 9 -2013 - Nrithamaadoo Krishna......
Vanamaali Raadha Ramana -TS Radhakrishnaji.....Dubai Bhajan 8 -2013
Oruneeramenkilum kaanathe - TS Radhakrishnaji.....Dubai Bhajan 7 -2013
Rshinaagakulathappaa Sharanam-TS Radhakrishnaji...Dubai Bhajan 6 - 2013
TS Radhakrishnaji...Dubai Bhajan 5- 2013..Anjaneeya hanumantha...........
Panchabhootha naathanaakum Swami Ayyappan-TS Radhakrishnan...Dubai Bhajan 3- 2013
Ente guruswamy Paranju - TS Radhakrishnaji....Dubai Bhajan 2-2013
Pampaganapathi - T S Radhakrishnaji.......Bhajan 1 -Dubai 2013

Bhajan Lyrics View All

अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे