Share this page on following platforms.

Home More Bhajan Sandhya

bhajan sandhya by prashanth nayak hiriyadka

Omkara ganaraja guneshwara-Prashanth Nayak Hiriyadka

Jaya narayana Jaya jagat karana - Prashanth Nayak Hiriyadka

Jai Jai Kuladevata - Prashanth Nayak Hiriyadka

Ninna Nodi Dhanyanadeno - Prashanth Nayak Hiriyadka

Chandanata Parimala - Prashanth Nayak Hiriyadka

Namostute Namostute Sharadamaate - Prashanth Nayak Hiriyadka

Tumaka Chalata Ramachandra - Prashanth Nayak Hiriyadka

Samacharana Tujhe Dekhile - Prashanth Nayak Hiriyadka

Baaje Muraliya Baaje-Prashanth Nayak Hiriyadka

Jo Bhaje Hariko Sadaa, Kayo Karuna Nidhe -Prashanth Nayak Hiriyadka

Contents of this list:

Omkara ganaraja guneshwara-Prashanth Nayak Hiriyadka
Jaya narayana Jaya jagat karana - Prashanth Nayak Hiriyadka
Jai Jai Kuladevata - Prashanth Nayak Hiriyadka
Ninna Nodi Dhanyanadeno - Prashanth Nayak Hiriyadka
Chandanata Parimala - Prashanth Nayak Hiriyadka
Namostute Namostute Sharadamaate - Prashanth Nayak Hiriyadka
Tumaka Chalata Ramachandra - Prashanth Nayak Hiriyadka
Samacharana Tujhe Dekhile - Prashanth Nayak Hiriyadka
Baaje Muraliya Baaje-Prashanth Nayak Hiriyadka
Jo Bhaje Hariko Sadaa, Kayo Karuna Nidhe -Prashanth Nayak Hiriyadka

Bhajan Lyrics View All

श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥