Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

हो हो हो हो मीरा के घनश्याम आ गए ॥
शाम आ गए घनश्याम आ गए ॥

हो हो हो हो मीरा के घनश्याम आ गए ॥
शाम आ गए घनश्याम आ गए ॥
हो हो हो हो मीरा के घनश्याम आ गए ॥

हीरा कैसे दिखेंगे सांवरिया,
जब मीठी बजाए बांसुरिया।
ऐसी लागी लगन, मीरा हो गई मगन ॥
जब हो हो हो मीरा के घनश्याम आ गए ॥

वृंदावन की गलियों में डोले,
और दिल के दरवाजे खोले।
मैं तो माखन बनाऊ,और उसको खिलाऊ ॥
जब हो हो हो मीरा के घनश्याम आ गए ॥

मीरा हमको भी शाम से मिलाना,
और उसके दर्शन कराना।
उसको अपना बनाऊं, मैं तो दिल में बसा हूं ॥



ho ho ho mera ke ghanshyam aa gaye



Bhajan Lyrics View All

तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई