Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 10.14 Download BG 10.14 as Image

⮪ BG 10.13 Bhagwad Gita Brahma Vaishnava Sampradaya BG 10.15⮫

Bhagavad Gita Chapter 10 Verse 14

भगवद् गीता अध्याय 10 श्लोक 14

सर्वमेतदृतं मन्ये यन्मां वदसि केशव।
न हि ते भगवन् व्यक्ितं विदुर्देवा न दानवाः।।10.14।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।10.14।। हे केशव जो कुछ भी आप मेरे प्रति कहते हैं? इस सबको मैं सत्य मानता हूँ। हे भगवन्? आपके (वास्तविक) स्वरूप को न देवता जानते हैं और न दानव।।

Brahma Vaishnava Sampradaya - Commentary