Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 10.1 Download BG 10.1 as Image

⮪ BG 9.34 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 10.2⮫

Bhagavad Gita Chapter 10 Verse 1

भगवद् गीता अध्याय 10 श्लोक 1

श्री भगवानुवाच
भूय एव महाबाहो श्रृणु मे परमं वचः।
यत्तेऽहं प्रीयमाणाय वक्ष्यामि हितकाम्यया।।10.1।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 10.1)

।।10.1।।श्रीभगवान् बोले -- हे महाबाहो अर्जुन मेरे परम वचनको तुम फिर सुनो? जिसे मैं तुम्हारे हितकी कामनासे कहूँगा क्योंकि तुम मेरेमें अत्यन्त प्रेम रखते हो।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।10.1।। श्रीभगवान् ने कहा -- हे महाबाहो पुन तुम मेरे परम वचनों का श्रवण करो? जो मैं तुझ अतिशय प्रेम रखने वाले के लिये हित की इच्छा से कहूँगा।।