Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 1.43 Download BG 1.43 as Image

⮪ BG 1.42 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 1.44⮫

Bhagavad Gita Chapter 1 Verse 43

भगवद् गीता अध्याय 1 श्लोक 43

दोषैरेतैः कुलघ्नानां वर्णसङ्करकारकैः।
उत्साद्यन्ते जातिधर्माः कुलधर्माश्च शाश्वताः।।1.43।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 1.43)

।।1.43।।इन वर्णसंकर पैदा करनेवाले दोषोंसे कुलघातियोंके सदासे चलते आये कुलधर्म और जातिधर्म नष्ट हो जाते हैं।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।1.43।।इन वर्णसंकर कारक दोषों से कुलघाती दोषों से सनातन कुलधर्म और जातिधर्म नष्ट हो जाते हैं।