Share this page on following platforms.

Home Singers Govind Bhargav ji

श्री राधा बल्लभलाल वृन्दावन - श्री गोविन्द भार्गव जी 15.05.2016

श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-8 15-5-2016

श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-7 15-5-2016

श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-615-5-2016

श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-5 15-5-2016

श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-415-5-2016

श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-3 15-5-2016

श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-2 15-5-2016

श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-1 15-5-2016

Contents of this list:

श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-8 15-5-2016
श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-7 15-5-2016
श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-615-5-2016
श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-5 15-5-2016
श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-415-5-2016
श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-3 15-5-2016
श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-2 15-5-2016
श्री राधा बल्लभलाल वृंदावन श्री गोविन्द भार्गव जी P-1 15-5-2016

Bhajan Lyrics View All

एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से