Share this page on following platforms.

Home Singers Govind Bhargav ji

Govind ji

Tera Kisne Kiya Re Singaar Sanware || GOVIND BHARGAV JI || New Khatu Shyam Bhajan #Saawariya

Radha Rani Hamari Sarkar Fikar Mohe Kahe Ki, Bhajan by Govind Bhargava Ji

Mere Giniyo Na Ladli Shree Radhe :by Govind Bhargav Ji (UP)

Lete Jana re Hari ka Naam, Bhajans by Govind Bhargava Ji

tum hamare the prabhu ji(govind bhargav)

Krishna Bhajan - Chalo Man Vrindavan Ki Aur By Govind Ji Bhargav

Contents of this list:

Tera Kisne Kiya Re Singaar Sanware || GOVIND BHARGAV JI || New Khatu Shyam Bhajan #Saawariya
Radha Rani Hamari Sarkar Fikar Mohe Kahe Ki, Bhajan by Govind Bhargava Ji
Mere Giniyo Na Ladli Shree Radhe :by Govind Bhargav Ji (UP)
Lete Jana re Hari ka Naam, Bhajans by Govind Bhargava Ji
tum hamare the prabhu ji(govind bhargav)
Krishna Bhajan - Chalo Man Vrindavan Ki Aur By Govind Ji Bhargav

Bhajan Lyrics View All

जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना