Share this page on following platforms.

Home Singers Govind Bhargav ji

Govind bhargav ji

Mohe Na Bisaro Mein Jan Tera, Krishna Bhajan by Shri Govind Bhargav Ji

SHRI GOVIND BHARGAV SINGING BHAJAN IN BRAJ2

Tum Hamare ho Prabhu Ji, Bhajan By Govind Bhargava Ji

tum hamare the prabhu ji(govind bhargav)

Govind bhargav Ji - Ladli Shri Radhe

Je Tu Na Fadada Saadi Ba [Full Song] - Basa Lo Vrindavan Mein

Menu mere malika aukat vich rakhi ,Sandeep Sehagal,Sai Maha Kumbh, Rahul Chabra,

Contents of this list:

Mohe Na Bisaro Mein Jan Tera, Krishna Bhajan by Shri Govind Bhargav Ji
SHRI GOVIND BHARGAV SINGING BHAJAN IN BRAJ2
Tum Hamare ho Prabhu Ji, Bhajan By Govind Bhargava Ji
tum hamare the prabhu ji(govind bhargav)
Govind bhargav Ji - Ladli Shri Radhe
Je Tu Na Fadada Saadi Ba [Full Song] - Basa Lo Vrindavan Mein
Menu mere malika aukat vich rakhi ,Sandeep Sehagal,Sai Maha Kumbh, Rahul Chabra,

Bhajan Lyrics View All

हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है