Share this page on following platforms.

Home Singers Govind Bhargav ji

Govind Bhargav Ji

Shri Radha Krishna Bhajan - Tumre Kaaran Sab Jag Chooda Krishna By Govind Bhargav Ji

Shri Radha Krishna Bhajan - Tere Bagair Sawariya Jina Nahi Jaye By Govin Bhargav Ji

Shri Radha Krishna Bhajan - Man Bhul Mat Jaiyyo Radha Rani Ki Charan By Govind Bhargav Ji

Shri Radha Krishna Bhajan - Prabhu Aap Ki Daya Se Sab Kaam Ho Raha Hai By Govind Bhargav Ji

Shri Radha Krishna Bhajan - Mera Dil Tujhpe Muraliya By Bhai Mahavir Sharma Ji

Shri Radha Krishna Bhajan - Gopala Gopala Murli Manohar Manmohana By Bhai Mahavir Sharma Ji

Contents of this list:

Shri Radha Krishna Bhajan - Tumre Kaaran Sab Jag Chooda Krishna By Govind Bhargav Ji
Shri Radha Krishna Bhajan - Tere Bagair Sawariya Jina Nahi Jaye By Govin Bhargav Ji
Shri Radha Krishna Bhajan - Man Bhul Mat Jaiyyo Radha Rani Ki Charan By Govind Bhargav Ji
Shri Radha Krishna Bhajan - Prabhu Aap Ki Daya Se Sab Kaam Ho Raha Hai By Govind Bhargav Ji
Shri Radha Krishna Bhajan - Mera Dil Tujhpe Muraliya By Bhai Mahavir Sharma Ji
Shri Radha Krishna Bhajan - Gopala Gopala Murli Manohar Manmohana By Bhai Mahavir Sharma Ji

Bhajan Lyrics View All

सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥