Share this page on following platforms.

Home Singers Govind Bhargav ji

Delhi

Bake Bihari Ji Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)

Keshav Madhav Hari Hari Bol By Govind Bhargav Ji (Delhi)

Yashoda Tere Lala Ne Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)

Aaj Biraj Me Holi Re Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)

Kisori Tore Charnana Me Bhajan By Govind Ji Bhargav (Delhi)

Radha Rani Ke Charan Maharani Ke Charan Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)

Aaj Hamri Baat Rakhlo Radha Rani Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)

Sawal Sa Girdhari Bhajab By Govind Ji Bhargav (Delhi)

Tere Bagare Sawariya Jeeya Nahi Jaye Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)

Contents of this list:

Bake Bihari Ji Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)
Keshav Madhav Hari Hari Bol By Govind Bhargav Ji (Delhi)
Yashoda Tere Lala Ne Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)
Aaj Biraj Me Holi Re Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)
Kisori Tore Charnana Me Bhajan By Govind Ji Bhargav (Delhi)
Radha Rani Ke Charan Maharani Ke Charan Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)
Aaj Hamri Baat Rakhlo Radha Rani Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)
Sawal Sa Girdhari Bhajab By Govind Ji Bhargav (Delhi)
Tere Bagare Sawariya Jeeya Nahi Jaye Bhajan By Govind Bhargav Ji (Delhi)

Bhajan Lyrics View All

जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं