Share this page on following platforms.

Home Singers Chitra Vichitraji

Chitra Vichitra Ji - Latest Krishna Bhajans

Parde Mein Baithe Baithe "Newly Kanha Bhajan" || Chitra Vichitra Ji Maharaj #Saawariya

Contents of this list:

Kali Kamli Wala Mera Yaar || Beautiful Krishna Bhajan || Chitra Vichitra || Full Song #Bhakti
Sawre Ko Dil Me Basa Kar Toh Dekho || Best Krishan Bhajan || Bhaiya Ji Chitra Vichitra
Meri Vinti Yahi Hai Radha Rani || Chitra Vichitra || Beautiful Radha Rani Bhajan #Bhaktibhajan
Parde Mein Baithe Baithe "Newly Kanha Bhajan" || Chitra Vichitra Ji Maharaj #Saawariya
Banke Titli Main Udati Fira "Top Khatushyam Bhajan" Chitra Vichitra Ji Maharaj #Bhaktibhajan
Lena Khabar Hamari || Shyam Saloni Surat || Chitra Vichitra || #Bhaktibhajan
Hey Ladli Radhey Mere Jivan Main || Chitra Vichitra | Superhit Bhajan #Bhaktibhajan
Shyam Saloni Surat
Mere Pritam Pyare Teri Pal Pal......Newly Krishan Bhajan......By Chitra Vichitra Ji Maharaj
Tu Radhe Radhe Bol Zara "New Kanha Bhajan" By Chitra Vichitra Ji

Bhajan Lyrics View All

वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।