Share this page on following platforms.

Home More Bhagwad Gita

Bhagavad gita

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 1 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 2 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 3 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 4 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 5 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 6 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 7 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 8 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 9 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 10 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 11 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 12 of 13

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 13 of 13

Contents of this list:

Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 1 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 2 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 3 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 4 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 5 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 6 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 7 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 8 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 9 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 10 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 11 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 12 of 13
Sugi Sivam Essence of Bhagavath Geetha Tamil 13 of 13

Bhajan Lyrics View All

सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल