Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

यह बाल घुंघराले नैना काले काले,
नज़र सावरे लग ना जाए कही,

यह बाल घुंघराले नैना काले काले,
नज़र सावरे लग ना जाए कही,
माथे पे एक कला टीका तो लगा ले,
नज़र सावरे लग ना जाए कही,
हा नज़र सावरे लग ना जाए कही,

बात दिल मेी जो है खुलके मई बोल डू,
खुलके मई बोल डू, खुलके मई बोल डू,
चाहे जी तुझको फुलो से मई तोल डू,
काबू मेी ज़ज्बात रखू मॅन मेी मॅन की बात रखू,
नज़र सावरे लग ना जाए कही,
हा नज़र सावरे लग ना जाए कही,



तुझको तूकटुक निहारे दीवाने तेरे,
सब है दीवाने तेरे, सब है दीवाने तेरे,
कुच्छ नये है कुकछ है आशिक़ पुराने तेरा,
मस्त पवन सी चाल तेरी, हँसी है बड़ी कमाल तेरी,
नज़र सावरे लग ना जाए कही,
हा नज़र सावरे लग ना जाए कही,

अपनी पलाको मेी प्यारे च्छुपलु तुझे,
हा चचपलु तुझे प्यारे, हा चचपलु तुझे,
जो ना च्छुटे वो काजल बना लू तुझे,
मई जाो कुर्बान तेरे तुझमे अटके है प्राण मेरे,
नज़र सावरे लग ना जाए कही,
हा नज़र सावरे लग ना जाए कही,

यह बाल घुंघराले नैना काले काले,
नज़र सावरे लग ना जाए कही,
माथे पे एक कला टीका तो लगा ले,
नज़र सावरे लग ना जाए कही,



yeh baal gungrale naina kale kale najar sanware lg na jai kahi



Bhajan Lyrics View All

दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य