Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

यमुना किनारे मेरो गांव!
सांवरे आ जइयो आ जइयो,

यमुना किनारे मेरो गांव!
सांवरे आ जइयो आ जइयो,

यमुना किनारे मेरी ऊंची हवेली,
राधा रंगली है मेरो नाम,
सांवरे आ जइयो आ जइयो, यमुना किनारे मेरो गांव

मल मल के मैं तुजे नेहलाऊ,
माथे चंदन तिलक लगाऊं,
पूजा करूँगी सुबह शाम,
सांवरे आ जइयो आ जइयो, यमुना किनारे मेरो गांव

फूलन को पलना मँगवाऊँ
चुन चुन कलियाँ सेज सजाऊँ,
धीरे धीरे दाबूंगी मैं पाँव,


माखन मिश्री को भोग लगाऊं,
अपने हाथों से तुमको खिलाऊं,
सेवा करूँगी सुबह शाम,
सांवरे आ जइयो आ जइयो, यमुना किनारे मेरो गांव

सांवरे आ जइयो आ जइयो, यमुना किनारे मेरो गांव



yamuna kinare mero gaao sanware aa jaiyo



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा