Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

हो जमुना किनारे

हो जमुना किनारे

जमुना किनारे, झिलमिल करे तारे
जहाँ बांसुरी बजाए यशोदा का लड़का
जिसे सुन सुन राधाजी का दिल धड़का
हो जमुना किनारे...

पावों में पैजनियाँ, पहन चोरी चोरी
घर से चली रे देखो राधे गोरी गोरी
क़दमों के निचे
क़दमों के निचे आई ,घूँघट को खींचे
जहाँ बांसुरी बजाए यशोदा का लड़का
जिसे सुन सुन राधाजी का दिल धड़का
हो जमुना किनारे...

नटखट था बड़ा कन्हैया
पकड़ी राधा की बहियाँ
अरे राधाजी का, नरम करजवा नाचे, ता ता थइया

एक तरफ ग्वालन गैया, एक तरफ था ढीठ कन्हैया
अंखियो से अँखियाँ टकराई, तो बहने लगी पुरवाई
लो प्रीत गगरिया छलकी
माथे से चुनरिया ढलकी  
जहाँ बांसुरी बजाए, यशोदा का लड़का
जिसे सुन सुन राधाजी का दिल धड़का
हो जमुना किनारे...

राधा मोहन के मधुर मिलान की फ़ज़ा
देख कर उठी गगन में घटा
पवन को हटा, मेघ जो फटा
बरसने लगा रे मुसळधार
गोकुल भीगा
गोकुल भीगा, मधुबन भीगा, भीगे किशन मुरार
भीग गयी रे, कुँवर राधिका, भीगा उनका प्यार
पंछी भोर को पुकारे
पंछी भोर को पुकारे, खुले नैन गटणारे,
जहाँ बांसुरी बजाए यशोदा का लड़का
जिसे सुन सुन राधाजी का दिल धड़का
हो जमुना किनारे...



yamuna kinare jhilmil kare taare jahan bansuri bajaye yashoda ka ladka jise sun sun radha ji ka dil dhadka



Bhajan Lyrics View All

दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का