Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

वे मैं नचना तेरे नाल, जग नू नचान वालेया।
तू वी नच लै अज्ज सादे नाल, जग नू नचान वालेया ॥

वे मैं नचना तेरे नाल, जग नू नचान वालेया।
तू वी नच लै अज्ज सादे नाल, जग नू नचान वालेया ॥

नित तू नचावे अज तेनु नाचावंगे,
रुस जेगा ओह ते हत्थ जोड़ के मनावागे,
अज नच के तू करदे नेहाल, जग नू नचान वालेया॥

तन वी है रंगना ते मन वी है रंगना।
अज तेरे नाल श्यामा अंग अंग रंगना।
आजा बंसरी वजा तू साडे नाल, जग नू नचान वालेया॥

जग दी हुण सानू कोई परवाह नहीं,
तेरे जेहा बेड़ियाँ दा कोई वी मलाह नहीं।
भावे डोब जा भावे कर पार, जग नू नचान वालेया॥

अज वी ना नाचेओ ते दस कदो नचेगा।
प्रेमिया दे हाड़ेया तो किना चिर बचेगा।
आना पयेगा हो के दयाल, जग नू नचान वालेया॥

गोपियाँ वी होणगीयां ते ग्वाले वी होणगे।
रल मिल नाल तेरे, रास रचाणगे।
आजा लै के तू  राधा जी नू नाल, जग नू नचान वालेया॥

हुण वी ना नाचेओ ते यारी टूट जायेगी।
तेरे नाल श्यामा सारी संगत रूस जाएगी।
ग्वाले रूस जाणगे  एह गोपी रूस जायेगी।
आजा नच के तू कर दे कमाल, जग नू नचान वालेया॥

नच ले वे श्यामा हुन कहणु शर्माना ए।
कर के इशार्रे क्यों लुक लुक जान ए,
लुक लुक जान ए ते क्यों तडपाना ए।
जदों मन लिया तेनु अपना यार,जग नू नचान वालेया॥

तूही मेरा यार ते प्यार वी तू है।
दिल वी तू दिलदार वी तू है।
तूही मेरे सर सिरताज वी तू ही है।
तूही मेरा दरद ते दावा भी तू है।
तूही मेरा जिगर ते जान वी तू है।



ve main nachna tere nal jag nu nachaan waleya krishna bhajan



Bhajan Lyrics View All

तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka