Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

तेरे बिन कोई ना हमारा है
श्याम तेरा ही अब सहारा है

तेरे बिन कोई ना हमारा है
श्याम तेरा ही अब सहारा है

आज आओ मोहन,मुझपे उपकार करो,
कष्ट हर लो मेरे सारे,मेरा उद्धार करो
कन्हैया सुनो आज अर्जी मेरी,
मैं करता हूँ अरदास दिल से तेरी,
कोई ना अपना आज है
किसी से नहीं आस है,
इक तेरा ही है आसरा,
तेरा ही विस्वास है,
दिल ने तुमको ही अब पुकारा है,
श्याम तेरा ही अब सहारा है.....

तेरे दर पे हम आये,
मन में यह आशा लाये,
आज तक तेरी कृपा से ही
काम सब होते आये,
खड़े श्याम तेरी शरण आज हम
लूटा दे तू खुशिया
मिटा दे हर गम,
ये जिंदगी की डोर श्याम तेरे ही हाँथ है,
मिलेगी सारी खुशियाँ,मिले जो तेरा साथ है,
दास अंकुश को तू ही प्यारा है
श्याम तेरा ही अब सहारा है.....

तेरे बिन कोई ना हमारा है
श्याम तेरा ही अब सहारा है



tere bin koi naa hamara hai shyam tera hi ab sahara hai khatu shyam bhajan with hindi lyrics by saurabh madhukar



Bhajan Lyrics View All

राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना