Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

तेरा प्यार बड़ा ऊँचा साड़ी प्रीत नमानी है,
तुसा प्यार बड़ा दिता असा कदर न जानी है,

तेरा प्यार बड़ा ऊँचा साड़ी प्रीत नमानी है,
तुसा प्यार बड़ा दिता असा कदर न जानी है,

हो जन बिन तडपे मीन वेचारी,
चन बिन तडपे चकोरा,
तुज बिन तडपे यह मन मेरा सह न सकू विछोडा,
हून किस नाल प्यार करा सारी दुनिया बेगानी है,
तुसा प्यार बड़ा दिता ......

हो बीत गैया जो बीत बहारा याद करा ते रोवा,
तुज बिन मेरे मोहन प्यारे हंजू हार पिरोवा,
हूँ क्यों मैं धीर धरा मेरी उम्र नादानी है,
तुसा प्यार बड़ा दिता ...........

अखा विच तेरा रूप निरला दिल विच याद है तेरी,
तुज बिन मेरे बंसी वाले कौन सुने गा मेरी,
एह नाता तोड़ी ना ओ साड़ी प्रीत पुराणी है,
तुसा प्यार बड़ा दिता .....



tera pyar bada ucha sadi preet namani hai



Bhajan Lyrics View All

तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है