Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

तेरा नाम लिया तुझे मान लिया अब कर दो बेडा पार
सुन लो इस दुखिया की पुकार सुन लो इस दुखिया की पुकार

तेरा नाम लिया तुझे मान लिया अब कर दो बेडा पार
सुन लो इस दुखिया की पुकार सुन लो इस दुखिया की पुकार

दुनिया बुरा बतावे मुझको गाली दे नर नार
भवर बीच मेरी नैय्या अटकी कर दे मोहन पार
रे बाबा कर दे मोहन पार
पालन करता दुखड़े हरता तू बाबा कृष्ण मुरार
सुन लो इस दुखिया की पुकार .......

सास मेरी मुझे डायन कहवे नन्द बनावे बात  
सखी सहेली तानने मारे  खाली दोनों हाथ
रे बाबा खाली दोनों हाथ
धीरज धरदे दुखड़े हर दे मेरे बाबा कष्ट हजार
सुन लो इस दुखिया की पुकार ........

ससुर मेरा मुझे बाँझ बतावे घर से काढ़े बाहर
विपत घनी मैं बाबा मोहन आयी तेरे द्वार
रे बाबा आयी तेरे द्वार
झोली भर दे कृपा कर दे तू कर मेरा उद्धार
सुन लो इस दुखिया की पुकार ...........

बाबुल मेरा नाय बुलावे न कोई मेरी बात सुने
दुखिया रोवे तेरे द्वार पाई काया नै दिन रात घुने
रे हाँ काया ने दिन रात घुने
गुणे राम किशन रह सागर मगन करे देविंदर प्रचार
सुन लो इस दुखिया की पुकार ........

भजन गायक  : सुशिल शर्मा
निगरावठी पिलुखवा



tera nam liya tujhe man liya abb kr do beda paar



Bhajan Lyrics View All

बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।