Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

श्याम मेरे आये सखी सपने में
ख़ुशी से ओये ओये

श्याम मेरे आये सखी सपने में
ख़ुशी से ओये ओये
ख़ुशी से झूम उठी सपने में

बताऊ सपने की मैं बात,
श्याम तो बैठ गए मेरे पास,
नज़रे ओये ओये,
नज़रे मिलने लगी सपने में,
श्याम मेरे......

माखन का भरके सखी कटोरा,
श्याम को ओये ओये,
श्याम को खिलाने लगी सपने में,
श्याम मेरे.....

बताऊ सपने की मैं बात,
श्याम मुझे ले गए अपने साथ,
श्याम ने पकड़ लिया मेरा हाथ,
लाज मुझे ओये ओये,
लाज मुझे आने लगी सपने ,
श्याम मेरे.....

हाथो में लेकर मेरा हाथ,
श्याम मुझे ले गए अपने साथ,
मैं भव से ओये ओये,
मैं भव से पार हुई सपने में,
श्याम मेरे.....

बोल बांके लाल की जय
जय जय श्री राधे



shyam mere aaye sakhi sapne khushi se jhum uthi sapne mae



Bhajan Lyrics View All

अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही