Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

साईं की नगरिया जाना है रे बन्दे..जाना है रे बन्दे
जग नाही अपना,बेगाना है रे बन्दे...

साईं की नगरिया जाना है रे बन्दे..जाना है रे बन्दे
जग नाही अपना,बेगाना है रे बन्दे...
जाना है रे बन्दे...जाना है रे बन्दे...
साईं की नगरिया जाना है रे बन्दे..जाना है रे बन्दे

पत्ता टूटा डारि से, ले गयी पवन उड़ाय,
अबकी बिछुड़े ना मिले, दूर पड़ेंगे जाय ।
माली आवत देख कर कलियन करी पुकार,
फुले-फुले चुन लिए काल हमारी बार ॥
साईं की नगरिया जाना है रे बन्दे..जाना है रे बन्दे...

चलती चाकी देखकर दिया कबीरा रोय,
दुइ पाटन के बीच में साबुत बचा ना कोय ।
लूट सके तो लूट ले सत्य नाम की लूट,
पाछे फिर पछताओगे,प्राण जांहि जब छूट ॥
साईं की नगरिया जाना है रे बन्दे..जाना है रे बन्दे...

माटी कहे कुम्हार से, तू क्या रोंदे मोय,
इक दिन ऐसा होयेगा, मैं रौंदूगी तोय ।
लकड़ी कहे लुहार से तू मत जारी मोहि,
इक दिन ऐसा होयेगा, मैं जारूँगी तोहि ॥
साईं की नगरिया जाना है रे बन्दे..जाना है रे बन्दे...

बन्दे तू कर बंदगी, तव पावे दीदार,
अवसर मानुष जन्म का, बहुरि ना बारम्बार ।
कबीरा सोया क्या करे, जाग ना जपे मुरारी,
एक दिना है सोवना लम्बे पाँव पसारी ॥
साईं की नगरिया जाना है रे बन्दे..जाना है रे बन्दे...



sai ki nagariya jana hai re bande by Hari Om Sharan Sai Bhajan lyrics



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
बृज के नंदलाला राधा के सांवरिया,
सभी दुःख दूर हुए, जब तेरा नाम लिया।
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka