Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

सब ही धाम देख लेना, हर जहां  है  श्याम श्याम,
हर एक नाम बोल लेना, हर एक नाम है  श्याम श्याम    

सब ही धाम देख लेना, हर जहां  है  श्याम श्याम,
हर एक नाम बोल लेना, हर एक नाम है  श्याम श्याम    
                  मन में, तन में, कण कण में है  वो श्याम श्याम  

द्वारका, मथुरा, गोकुल में, ब्रिज में ब्रिन्दाबन में श्याम
धरती पाताल और गगन में है वो श्याम श्याम

गोविंद गिरीधर गोपाल, देवकीनंद नंदलाल
माधव मुकुंद और मधुसूदन भी है  वो श्याम श्याम

राधेश्याम, मीराश्याम , तेरा श्याम, मेरा श्याम
तेरा, मेरा, सबका, कोटी कोटी है प्रणाम

                                 गीत :  ग्वाला
                              संगीत :  अरुण सराफ
                              गायक :  आभास जोशी
                             अल्बम :  रंग दे ओ श्याम



sab hi dhaam dekh lena har jahan hai shyam shyam classical krishna bhajan



Bhajan Lyrics View All

श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की