Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

राधे राधे गाये जा
गोबिंद को रिझाये जा

राधे राधे गाये जा
गोबिंद को रिझाये जा
गोबिंद को रिझाये जा गोपाल को रिझाये जा

श्री कृष्ण शिरोमणि श्री राधा
जय श्याम संजीवनी श्री राधा
जय रास विलासिनी श्री राधा
नित कुञ्ज निवासिनी राधा
गोबिंद को रिझाये जा गोपाल को रिझाये जा
राधे राधे गाये जा-
गोबिंद को रिझाये जा

वृन्दावन रानी श्री राधा
मोहनमन मानी  श्री राधा
ब्रज चंद्र चकोरी श्री राधा
वृषभानु किशोरी श्री राधा
गोबिंद को रिझाये जा गोपाल को रिझाये जा
राधे राधे गाये जा-
गोबिंद को रिझाये जा

मंगल की मूर्ति श्री राधा
ब्रज जन सुख पूर्ति श्री राधा
जय नख चन्द्रावली श्री राधा
प्रीतम प्रेमवाली श्री राधा
गोबिंद को रिझाये जा गोपाल को रिझाये जा
राधे राधे गाये जा-
गोबिंद को रिझाये जा

गोपाल उपासनी श्री राधा
अति रूप उजारि श्री राधा
नटनागर भामा श्री राधा
परिपूर्ण कामा श्री राधा
गोबिंद को रिझाये जा गोपाल को रिझाये जा
राधे राधे गाये जा-



radhe radhe gaaye ja gobind ko rijhaye ja



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार