Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

ओ जीवे साडा श्याम शोणा जीवे जीवे॥
अस्मानी तारा है,सड़े जाहे दुखिया दा वृदावन सहारा है,

ओ जीवे साडा श्याम शोणा जीवे जीवे॥
अस्मानी तारा है,सड़े जाहे दुखिया दा वृदावन सहारा है,

ओ जीवे साडा श्याम शोणा जीवे जीवे॥
सोये गल दी गाणी ऐ॥
नाले सडा यार लगदा नाले दिल दा जानी ऐ॥

ओ जीवे साडा श्याम शोणा रुलदी आ ते रुल जावा,
रब मेनू बक्से ना जे श्यामा मैं तेनु भूल जावा,

ओ जीवे साडा श्याम शोणा काली बदलिया छैया ने,
चन मेरे जनम लिया आज बजन बड़ाईआ ने,

ओ जीवे साडा श्याम शोणा जीवे बगदी नेहर होवे ,
वृदावन रहन वालिया तेरी दम दम खेहर होवे,

ओ जीवे साडा श्याम शोणा बस राधे राधे राधे राधे कहिये,
सिर उते हाथ तेरा फिर दुनिया तो क्यों डरिये,

ओ जीवे साडा श्याम शोणा सारा जग विसराय है,
मैं अपने दिल ऊते नाम तेरा लिखवाया है,

ओ जीवे साडा श्याम शोणा जिहदी दुनिया दीवानी है,
ठाकुर सादे नंदलाला ठकुरानी राधा रानी है ,

ओ जीवे साडा श्याम शोणा सोये गल दी गाणी ऐ,
नाले मेरा यार लगदा नाले दिल दा जानी ऐ



oo jiwe sadha shyam sohna jiwe jiwe



Bhajan Lyrics View All

श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,